उत्तराखंड में IPS अफ़सरों की बढ़ती नाराजगी, इस्तीफे की तैयारी ।Postmanindia

Help spreading this news
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

उत्तराखंड में पिछले 2 दिन में पुलिस महकमें में बड़ी हल-चल देखने को मिल रही है. एक के बाद एक IPS अफ़सरों की नाराज़गी पुलिस मुख्यालय से लेकर थाने चौकियों तक चर्चा का विषय बना हुवा है. बीते रोज़ हीIPS अधिकारी बरिंदर जीत सिंह ने महकमें के आला अफ़सरों के ख़िलाफ़ मोर्चा खोलते हुए हाईकोर्ट में अपने तबादले को लेकर चुनौती दी है वहीं दूसरी ओर एक और IPS अधिकारी उत्तराखंड पुलिस विभाग से नाराज़गी ज़ाहिर कर रहे हैं. चर्चा यहाँ तक है उन्होंने इस्तीफ़ा देने का मन बना लिया है. फ़िलहाल वे अफ़सर छुट्टी पर चल रहे हैं. ऐसे में अब एक के बाद एक यानी मौजूदा वक्त में 2 IPS अधिकारी महकमें से बारह हैं.

इधर दूसरे IPS अधिकारी की नाराज़गी की वजह अभी स्पष्ट नहीं हो पाई है. अगर बरिंदर के अलावा एक और IPS खुल के सामने आते हैं तो पुलिस मुख्यालय से लेकर सरकार के सामने चिंता बढ़ सकती है. बहरहाल अब इंटेलीजेंस समेत तमाम एजेंसीयां इस बात को खंगालने में जुट गई हैं कि वो दूसरे IPS अधिकारी कौन हैं?

ये भी पढ़ें: उत्तराखंड में तैयार होगा दुशमन की मौत का समान

दरसल ऊधमसिंह नगर से उपजा विवाद देहरादून पुलिस मुख्यालय और सत्ता के गलियारों तक पहुँच चुका है. पिछले दिनों ऊधमसिंह नगर के एसएसपी पद से हुए तबादले के बाद बरिंदर ने हाई कोर्ट में चुनौती दे दी है. कुछ दिन पूर्व ही ऊधमसिंह नगर के एसएसपी बरिंदर जीत सिंह का तबादला शासन ने IRB कमांडेंट के पद पर कर दिया था और पौड़ी गढ़वाल के SSP दलीप सिंह कुंवर को ऊधमसिंह नगर की कमान सौंप दी थी. उन्होंने कहा कि 12 साल की सेवा में ईमानदारी व कर्तव्यनिष्ठ होने का इनाम आठ तबादले करके दिया गया. कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश रवि कुमार मलिमथ व न्यायाधीश एनएस धानिक की खंडपीठ ने मामले को गंभीरता से लेते हुए PHQ को नोटिस जारी कर 20 अगस्त तक जवाब दाखिल करने के निर्देश दिए हैं. अगली सुनवाई 21 अगस्त को होगी.


Help spreading this news
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Facebook Comments

error: Content is protected !!