भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बोले, कैबिनेट के खाली पदों को भरने का उचित समय । Postmanindia

Help spreading this news
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

बीजेपी के नए प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत ने सावन के महीने बीजेपी विधायकों को बड़े संकेत दिए हैं. प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत का के ताजा बयान ने सियासी गलियारों में एक बार फिर से हवा तेज कर दी है. बंशीधर भगत कि कहना है कि सरकार को अब कैबिनेट विस्तार कर देना चाहिए. उन्होंने कहा कि अब तक तो कैबिनेट विस्तार हो भी जाता अगर कोरोना ना होता. दरअसल मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने शनिवार को राजभवन में राज्यपाल बेबी रानी मौर्य से मुलाकात की. हालाकि राजभवन ने इसे महज शिष्टाचार भेंट ही बताया, लेकिन सियासी गलियारों में नए सिरे से मंत्रिमंडल विस्तार की चर्चाओं ने जोर पकड़ लिया

उत्तराखंड की 70 सदस्यीय विधानसभा में भाजपा के 57 विधायक हैं. संवैधानिक प्रविधान के मुताबिक राज्य में मंत्रिमंडल का आकार मुख्यमंत्री समेत अधिकतम 12 सदस्यीय हो सकता है. मार्च 2017 में जब सूबे में भाजपा सरकार बनी, तब मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के अलावा नौ अन्य मंत्री बनाए गए. यानी शुरुआत में मंत्रिमंडल 10 सदस्यीय रहा और दो सीटें खाली रखी गईं. गत वर्ष जून में त्रिवेंद्र कैबिनेट के वरिष्ठ सदस्य प्रकाश पंत का असामयिक निधन होने के कारण मंत्रिमंडल में तीन स्थान रिक्त हो गए.

स्वर्गीय पंत के पास वित्त, आबकारी, पेयजल जैसे महत्वपूर्ण पोर्टफोलियो थे, जो तब से अब तक भी मुख्यमंत्री के ही पास हैं. इस स्थिति में मंत्रिमंडल विस्तार तय समझा गया. इसी साल फरवरी में मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पार्टी के नए राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से मुलाकात कर मंत्रिमंडल विस्तार को हरी झडी ले आए थे. तब स्वयं मुख्यमंत्री ने कहा था कि मार्च पहले हफ्ते तक उनकी टीम में नए सदस्यों को शामिल किया जा सकता है. इसके बाद देश में कोविड-19 के तेजी से फैलने के कारण लॉकडाउन लगाना पडा. इससे स्वत: ही मंत्रिमंडल विस्तार पर ब्रेक लग गया.


Help spreading this news
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Facebook Comments

error: Content is protected !!