ऋषिकेश-श्रीनगर रूट 22 से 31 मार्च तक बंद, ये है नया रूट प्लान | postmanindia

Help spreading this news
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

उत्तराखंड में आल वेदर रोड के तहत बने जा रहे एनएच-58 पर ऋषिकेश से देवप्रयाग के बीच 22 मार्च से 31 मार्च तक यातायात मार्ग को बंद रहेगा. बता दें कि ऑल वेदर रोड़ परियोजना के तहत 644 किमी सड़कों का निर्माण कार्य चल रहा है.जिस दौरान आवागमन के लिए देवप्रयाग खाड़ी से होते हुए ऋषिकेश केवल छोटे वाहन ही जा सकते हैं। लेकिन मलेथा-पीपलडाली-कोटीकालोनी-चंबा होते हुए केवल बड़े वाहन ही ऋषिकेश पहुंचा जा सकता है.

ऑल वेदर परियोजना के तहत बन रही 644 किमी सड़क में से 407 किमी सड़क को चौड़ा कर दिया गया है. जिसमें लगभग आधे हिस्से को पूरी तरह तैयार किया जा चुका है. कौडियाला से देवप्रयाग के बीच चल रहे पहाड़ कटाव कार्य को देखते हुए जिला प्रशासन ने 31 मार्च तक ये वैकल्पिक व्यवस्था की है.चारधाम को जोड़ने के लिए बनाई जा रही ऑल वेदर परियोजना पहाड़ की लाइफ लाइन बनने जा रही है. जिससे न केवल चारधाम यात्रा में सुगमता आएगी साथ ही पर्यटन गतिविधियों को भी बढ़ावा मिलेगा. सड़कों को आवागमन के लायक बनाने के लिए केंद्र सरकार ने इस परियोजना को बनाने का निर्णय लिया. जिसके साथ ही पहाड़ों में रोजगार के भी मार्ग खुलेंगे,. और आर्थिकी में भी इजाफा होगा. जहां बारिश के मौसम में पहाड़ों में भूस्खलन होने से यात्रियों को सफर करने में परेशानी का सामना करना पड़ता है.वहीं इन सभी हालातों को देखते हुए केंद्र सरकार ने आल वेदर परियोजना को बनाने का निर्णय लिया.

बारिश के मौसम में भूस्खलन से आमतौर पर पहाड़ की रफ्तार थम जाती है। सड़कों के बंद हो जाने के बाद लोगों के लिए सफर बेहद मुश्किल हो जाता है। इसी को देखते हुए ऑल वेदर रोड परियोजना में भूस्खलन संभावित स्थानों पर जियो सिंथेटिक तकनीकी से पहाड़ियों का ट्रीटमेंट किया जा रहा है. जिससे चारधाम की सड़कों के बंद होने की समस्या समाप्त होगी. आपको बता दें कि आल वेदर के लिए उन सड़कों का चयन किया गया है जहां भूस्खलन से हर बार मार्ग अवरूद्ध हो जाते हैं. साथ ही परियोजना में सड़कों के चौड़ीकरण किया जा रहा है.

बुधवार को जिलधिकारी डा. वी षणमुगम की अध्यक्षता में बैठक का आयोजन किया गया. बैठक में ऋषिकेश-देवप्रयाग-बदरीनाथ हाइवे पर आल वेदर के तहत पहाड़ी कटान के लिए कौडियाला से देवप्रयाग के बीच तोताघाटी पर पहला शटडाउन का निर्णय लिया. जहां बीआरओ और एनएच निर्माण कार्य मे लगे अधिकारियों ने प्रशासन से रूट डायवर्ट करने का अनुरोध किया. वहीं मार्ग में निर्माण कार्य को देखते हुए मलेथा से कोडियाला मार्ग बंद होने की दशा में टिहरी पुलिस ने डायवर्जन प्लान भी जारी कर दिया है.


Help spreading this news
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Facebook Comments

error: Content is protected !!