कुंभ मेले को लेकर अखाड़ा परिषद के साथ CM की बैठक समाप्त, इन मुद्दों पर हुई चर्चा ।Postmanindia

Help spreading this news
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

हरिद्वार में होने वाले महाकुंभ को लेकर मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के साथ अखाड़ा परिषद मेला प्रशासन की महत्वपूर्ण बैठक हुई.बैठक में सभी अखाड़ों से हम समाज के लोग शामिल हुए. बैठक में तय हुआ कि कोविड के कारण अनेक कुछ व्यावहारिक समस्याएं आयी हैं. कुभ के शुरू होने पर कोविड की स्थिति कैसी रहती है. उसके अनुसार कुंभ के स्वरूप को विस्तार दिया जायेगा. मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि कुंभ में परिस्थितियों के हिसाब से जो भी निर्णय लिये जायेंगे. उसमें अखाड़ा परिषद् एवं साधु-संतों के सुझाव जरूर लिये जायेंगे. राज्य सरकार का प्रयास है कि श्रद्धालुओं को किसी भी प्रकार की परेशानी न हो. उन्होंने कह कि कुभ के कार्यों की समय-समय पर समीक्षा की जा रही है. जो कार्य अभी प्रगति पर हैं. उन्हें जल्द पूर्ण करने के लिए संबंधित विभागीय सचिवों नियमित निगरानी करने के निर्देश दिये गये हैं. मुख्य सचिव को भी 15 दिन में कुभ मेले की समीक्षा के निर्देश दिये गये हैं.

ये भी पढ़ें: नयार फ़ेस्टिवल से उत्तराखंड में पर्यटन को मिलेगी नई दिशा- सतपाल महाराज

सरकार के शासकीय प्रवक्ता मदन कौशिक ने बताया कि कुम्भ भव्य होगा दिव्य होगा यह तय है. लेकिन सभी तैयारियों सरकार की तरफ से पूरी कर दी गई हैं सभी शाही स्नान तय समय पर होंगे. इधर अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष नरेंद्र गिरी ने कहा कि मेला विधिवत होगा 2010 की भाँति सभी अखाड़ों को जगह दी जाएगी. इसके साथ ही अखाड़े के द्वारा जो भी शिकायतें थी उन्हें मुख्यमंत्री द्वारा गंभीरता से लिया गया. उन्होंने कहा कि हरिद्वार कुंभ के सफल आयोजन के लिए राज्य सरकार को पूर्ण सहयोग दिया जायेगा. हरिद्वार में दिव्य एवं भव्य कुंभ का आयोजन हो. इसके लिए सभी व्यवस्थाएं समय पर पूर्ण हों. कोविड की परिस्थितियों के दृष्टिगत सरकार द्वारा कुंभ के स्वरूप के लिए जो भी निर्णय लिया जायेगा, उसमें पूरा सहयोग दिया जायेगा.

ये भी पढ़ें: हरि की पैड़ी को फिर से मिला गंगा की मूल धारा का दर्जा


Help spreading this news
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Facebook Comments

error: Content is protected !!