21.2 C
Dehradun
Tuesday, April 23, 2024

वर्ल्ड डेस्टिनेशन बनेगा टिहरी जिले में प्रताप नगर का म्यूजियम |Postmanindia

टिहरी जनपद में प्रतापनगर के मदन नेगी क्षेत्र को तीन आयामी पर्यटन का केंद्र बनाने के लिए पर्यटन विभाग की ओर से कवायत शुरू कर दी गई है. जिससे उत्तराखंड पर्यटन को बढ़ावा मिलने के साथ स्थानीय लोगों के लिए रोजगार के अवसर भी सृजित किए जा सकें. क्षेत्र को धार्मिक, साहसिक और वेलनेस डेस्टीनेशन के तौर पर विकसित करने के लिए पर्यटन विभाग के अधिकारियों ने कार्यदायी संस्था की टीम व स्थानीय जनप्रतिनिधियों के साथ मिलकर स्थलीय निरीक्षण किया. टिहरी जनपद के प्रतापनगर में राजमहल को पुरानी धरोहर के रूप में सुरक्षित किए जाने व वर्ल्ड डेस्टिनेशन म्यूजियम बनाने के लिए पर्यटन विकास की ओर से क्षेत्र में विकास कार्य किए जाएंगे. टिहरी जिले के समग्र विकास के लिए पर्यटन सचिव दिलीप जावलकर के दिशानिर्देशों पर संबंधित विभाग के साथ कार्यदायी संस्था वैपकोस की पांच सदस्य टीम बीते तीन दिनों से स्थलीय निरीक्षण कर रही है. जिसके तहत गुरुवार को मदन नेगी क्लस्टर का निरीक्षण किया गया. गौरतलब है कि कोरोना के कम होते प्रकोप के बीच उत्तराखंड आने वाले पर्यटकों को स्वच्छ व सुरक्षित वातावरण उपलब्ध कराने के लिए ट्रेकिंग ट्रक्शन होम स्टे योजना के तहत टीम का गठन किया गया है.

उत्तराखण्ड पर्यटन विकास परिषद, निदेशक अवस्थापना ले.क. दीपक खण्डूड़ी ने बताया कि मदन नेगी क्लस्टर की प्राकृतिक, साहसिक, धार्मिक, ऐतिहासिक पर्यटन के साथ वेलनेस की अपार संभावनाएं देश-दुनिया के पर्यटकों को इस ओर आकर्षिक करेगी. इन सबके विकास के लिए स्थलीय निरीक्षण किया गया. बताया कि वर्तमान में टिपरी से मदन नेगी तक बना रोपवे अभी फिलहाल ग्रामीणों की यातायात का साधन हैं. पुराने रोपवे का सौंदर्यीकरण करने के साथ मदन नेगी से धौलधार मदन नेगी मंदिर तक एक नया रोपवे का निर्माण किया जाएगा, जो इस क्षेत्र के सबसे ऊंचे स्थान पर होगा. जिसे पर्यटन की दृष्टि से तैयार किया जाएगा. यहां बनने वाला नया रोपवे रोमांच और पर्यटन की नई संभावनाओं के द्वार खोलने वाला साबित होगा. इसके निर्माण के लिए बड़े पैमाने पर ढांचागत विकास होगा, जिससे मौजूदा क्षेत्रों की तस्वीर पूरी तरह बदल जाएगी. जबकि क्षेत्र का प्राचीन वटकेश्वर महादेव मंदिर और मदन नेगी मंदिर वेलनेस और स्पिरिचुअल टूरिज्म डेस्टिनेशन के लिए सबसे उपयुक्त स्थान है. यहां की प्राकृतिक और समृद्ध विरासत अनायास ही पर्यटन प्रेमियों को आकर्षित करेगी. जबकि भिलंगना नदी से सटे होने से इस क्षेत्र में जलक्रीड़ा के लिए भी अपार संभावनाएं हैं. यहां आने वाले पर्यटकों को बेहतर आवासीय सुविधा देने के लिए विभिन्न सरकारी विभागों के भवनों का भी सौंदर्यीकरण किया जाएगा. इसके साथ ही स्थानीय लोगों की आस्था का सम्मान करते हुए मदन नेगी देवता की मूर्ति भी स्थापित की जाएगी. जिससे धार्मिक पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा. स्थलीय निरीक्षण के दौरान क्षेत्रीय विधायक विजय सिंह पंवार समेत पर्यटन विभाग के अधिकारी व कार्यदायी संस्था के पदाधिकारी मौजूद रहे.

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड में अटल उत्कृष्ट विद्यालय का शुभारंभ, शिक्षा मंत्री प्रदेश भर में करेंगे भ्रमण

spot_img

Related Articles

Latest Articles

देश के पूर्वी राज्यों में भीषण गर्मी का कहर, दक्षिण भी बेहाल; आंध्र प्रदेश...

0
नई दिल्ली: आईएमडी के मुताबिक, आंध्र प्रदेश के अनंतपुर में पारा 43.5 डिग्री सेल्सियस, कुरनूल में 43.2 डिग्री सेल्सियस, तमिलनाडु के सलेम में 42.3...

राष्ट्रपति 24 अप्रैल को एफआरआई में दीक्षांत समारोह में होंगी शामिल

0
देहरादून। इन्दिरा गाँधी राष्‍ट्रीय वन अकादमी में प्रशिक्षणरत 2022-24 प्रशिक्षण पाठ्यक्रम के दीक्षान्‍त समारोह का आयोजन 24 अप्रैल को दीक्षान्‍त-गृह, वन अनुसंधान संस्‍थान (एफआरआई)...

केंद्रीय शिक्षा सचिव ने परखी राज्य की शिक्षा व्यवस्था

0
देहरादून। केंद्रीय सचिव स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता संजय कुमार ने राज्य की शिक्षा व्यवस्था का जायजा लेने के लिए राज्य का भ्रमण किया। राज्य...

चिकित्सा के क्षेत्र में विश्वस्तरीय शिक्षा और सेवा प्रदान करना एम्स संस्थानों की बड़ी...

0
ऋषिकेश। अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान एम्स ऋषिकेश के चतुर्थ दीक्षांत ‌समारोह की मुख्य अतिथि राष्ट्रपति द्रोपदी मुर्मू ने सभी टॉपर 14 छात्र छात्राओं को...

तेज हुई राममंदिर निर्माण की गति, दिसंबर तक पूरा करने के लिए अब चार...

0
अयोध्या: राममंदिर दिसंबर 2024 तक पूर्ण हो जाए इसके लिए मंदिर प्रशासन ने 500 मजदूर अतिरिक्त बढ़ा दिए गए हैं। अब चार हजार मजदूर...