32.2 C
Dehradun
Sunday, May 26, 2024

डीजीपी ने चारधाम यात्रा के दौरान माइक्रो लेवल प्लानिंग को और अधिक बेहतर बनाने के दिए निर्देश

देहरादून। पुलिस महानिदेशक अभिनव कुमार द्वारा समस्त जनपद एवं परिक्षेत्र प्रभारियों के साथ वीडियो कांफ्रेसिंग के माध्यम से बैठक आहूत कर चारधाम यात्रा एवं पर्यटन सीजन के दृष्टिगत भीड़ प्रबन्धन व यातायात के सुगम परिचालन हेतु की गयी तैयारियों एवं उजागर हो रही चुनौतियों के सम्बन्ध में समीक्षा की गयी। पुलिस महानिदेशक द्वारा सुचारु एवं सुव्यवस्थित यातायात संचालन एवं भीड़ प्रबन्धन हेतु आपसी समन्वय व माइक्रो लेवल प्लानिंग को और अधिक बेहतर बनाने पर बल देते हुए विभिन्न निर्देश दिये गये। उन्होंने कहा कि हमारे लिए यात्रियों की सुरक्षा और स्थानीय नागरिकों की सुरक्षा एवं सुविधा सबसे महत्वपूर्ण है। इन दोनों प्राथमिकताओं को ध्यान में रखते हुए ही चारधाम यात्रा को सुचारु रुप से सम्पादित कराये जाने की प्लानिंग की जाये।
बाहरी राज्यों से चारधाम यात्रा पर आ रहे यात्रियों को फोन पर ही व्हाट्सएप/एसएमएस के माध्यम से चारधाम यात्रा बुलेटिन जिसमें धामों की दूरी, वर्तमान दिन में धामों पर मौजूद यात्रियों की संख्या, यातायात की स्थिति, चारों धामों के मौसम की अपडेट जानकारी, रास्तों में रुकने के स्थानों, आदि के बारे में यूजर फ्रेन्डली और उपयोगी प्रारूप में सूचना दी जाए। साथ ही चारों धामों के यात्रा मार्गों पर मुख्य-मुख्य स्थानों पर इलेक्ट्रॉनिक डिस्प्ले साईनेज बोर्ड लगाकर विभिन्न भाषाओं में यह जानकारी प्रसारित की जाए। सोशल मीडिया पर चार धाम के बारे में भ्रामक प्रचार करने वाले व्यक्तियों की सूची बनायी जाये। अफवाह फैलाने वालों के विरुद्ध कार्यवाही की जाये। पुलिस अधीक्षक, रुद्रप्रयाग, चमोली, उत्तरकाशी चारों धामों की निर्धारित क्षमता का वैज्ञानिक तरीके के अनुसार भी आंकलन कर लें। क्षमतानुसार ही यात्रियों को धामों की ओर भेजा जाये। चारों धामों की सुरक्षा हेतु बनायी गयी सुरक्षा स्कीम के अनुरुप कार्यवाही करना सुनिश्चित करें। गंगोत्री एवं यमुनोत्री में कई स्थानों पर मार्ग संकरे होने के कारण बड़ी बसों के फंसने से जाम की स्थिति बनी रहती है। परिवहन विभाग के सहयोग से ऐसे बड़े वाहनों को रोककर यात्रियों को वैकल्पिक व्यवस्था से धामों की ओर भेजने के सम्बन्ध में सार्थक प्रयास किये जाये। यातायात का दबाव बढ़ने पर यात्रियों को चिन्हित किये गये निर्धारित स्थानों पर रोके जाने की व्यवस्था सुनिश्चित की जाये। ऐसे स्थान मुख्य कस्बों के पास हों। जहां उनको खाने, पीने, रहने एवं आवश्यक वस्तुओं की सुविधा उपलब्ध हो सके। केदारनाथ सहित चारों धामों में तैनात पुलिस बल का साप्ताहिक मेडिकल चेकअप कराया जाये। पर्यटन सीजन के दृष्टिगत कुमाऊँ परिक्षेत्र में नैनीताल, कैंची धाम, जागेश्वर धाम आदि स्थानों हेतु भी यातायात प्लान बनाकर उसका अधिक से अधिक प्रचार-प्रसार कराया जाये। बैठक में ए0पी0 अंशुमान, अपर पुलिस महानिदेशक, अपराध एवं कानून व्यवस्था, मुख्तार मोहसिन, पुलिस महानिरीक्षक/निदेशक यातायात, राजीव स्वरूप, पुलिस महानिरीक्षक, सुरक्षा, सेंथिल अब्दुई कृष्ण राज एस0, पुलिस उप महानिरीक्षक, प्रो0/मार्ड0 पी0 रेणुका देवी, पुलिस उप महानिरीक्षक, अपराध एवं कानून व्यवस्था/नोडल अधिकारी, चारधाम यातायात सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।

spot_img

Related Articles

Latest Articles

सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली में 2006 तक हुए भू-अधिग्रहण को रखा बरकरार, हाई कोर्ट...

0
नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने सार्वजनिक बुनियादी ढांचा परियोजनाओं के लिए 1957 से 2006 के बीच दिल्ली विकास प्राधिकरण (डीडीए), दिल्ली राज्य औद्योगिक एवं...

चक्रवात के चलते कोलकाता हवाई अड्डे का परिचालन रहेगा 21 घंटों के लिए बंद,...

0
कोलकाता। चक्रवात रेमल के संभावित प्रभाव को देखते हुए रविवार दोपहर से 21 घंटे के लिए कोलकाता हवाई अड्डे से उड़ानों का परिचालन पूरी...

छठे चरण में मोदी सरकार के इन मंत्रियों समेत 889 उम्मीदवारों की किस्मत ईवीएम...

0
नई दिल्ली।  लोकसभा चुनाव 2024 के छठे चरण की मतदान प्रक्रिया 25 मई को पूरी हो गई है। छठे चरण में आठ राज्यों और...

गेमिंग जोन में आग लगने से 24 लोगों की मौत

0
राजकोट। गुजरात के राजकोट में TRP गेम जोन में भीषण आग लगने की घटना सामने आई है। घटना की जानकारी होते ही मौके पर...

छह राज्यों में लू का रेड अलर्ट, गर्मी से अब तक 60 लोगों की...

0
नई दिल्ली: उत्तर भारत समेत देश के कई हिस्सों में झुलसा देने वाली गर्मी पड़ रही है। 25 मई से नौ दिन तक चलने...