21.2 C
Dehradun
Tuesday, April 23, 2024

Fadrik E Willson : हर्षिल के देवदूत पहाड़ी विल्सन की कहानी |Postmanindia

उत्तरकाशी से हर्षिल की एक सुंदर जिसका नाम हर्षिल है. पूरे देश में हर्षिल अपने विशेष उत्पादों के लिए प्रसिद्ध है. पर आपको पता है कि इस हर्षिल को विकसित करने वाला कौन था.. अगर नहीं तो आप हर्षिल जरुर आइये और अब रात्रि विश्राम विल्सन हाउस Willson House में कीजये. विल्सन हाउस फॉरेस्ट का गेस्ट हाउस है जोकि एक ब्रिटिश आर्मी से विद्रोह कर भगौडे सैनिक के नाम से रखा गया है.

 पहाड़ी विल्सन के नाम भी प्रसिद्द थे willson

हर्षिल की पूरी कहानी फ़ेड्रिक ई विल्सन fadrik e willson नाम के आसपास ही घूमती है . दरअसल ब्रिटिश सेना का सैनिक विल्सन ने विकास पुरुष की भांति हर्षिल घाटी को विकसित किया है इसीलिए फॉरेस्ट का गेस्ट हाउस भी इस विकास पुरुष के नाम से रखा गया है, कहा जाता है कि पहाड़ी विल्सन PAHDI WILLSON का घर ही विल्सन हाउस के रूप में जाना जाता था, बाद में उसे वन विभाग ने नए सिरे से तोड़कर बनाया. अब ज़रा एक नजर हूं कौन है पहाड़ी विल्सन? देश में स्वतंत्रता आंदोलन चरम पर था सन 1857 में ब्रिटिश सेना BRITISH ARMY के साथ हुए सैनिक विद्रोह में विल्सन सेना छोड़ दिल्ली से भाग कर उत्तराखंड पहुंच गए.

कहा जाता है कि टिहरी राजा से उन्होंने शरण मांगी लेकिन उन्हें बहुत कुछ ज्यादा मदद टिहरी रियासत से नहीं मिली इसके बाद विल्सन घूमते-घूमते उत्तरकाशी के हर्षिल घाटी में पहुंच गए , यहाँ की जगह उन्हें भा गयी. हर्षिल में रहते रहते हुए उन्होंने ने गुलाबो देवी से शादी कर ली.विल्सन हर्षिल में ही बस गये..रोज शिकार करते.. इसके साथ ही विल्सन ने बाद में देवदार की लकड़ी का व्यापार भी शुरू कर दिया था विल्सन ने उसके बाद हर्षिल में तरह-तरह की खेती राजमा_सेब और कई उत्पादों को विकसित किया जो कि आज भी हर्षिल की पहचान के रूप में जाने जाते हैं.

विल्सन के नाम से उत्तराखंड में सेब की एक प्रजाति भी विकसित हो गई है जिन्हें विल्सन एप्पल willson apple कहा जाता है. ऐसे इंसान के व्यक्तित्व के बारे में जानते हुए बड़ा गर्व महसूस हुआ इस बात को लेकर एक तसल्ली हुई थी राजा विल्सन ने सिर्फ हर्षिल को अलग पहचान नहीं दिलाई बल्कि देश दुनिया में नक्शे पर उत्तराखंड का नाम रोशन किया. विल्सन हाउस में रहना सच में गर्व की अनुभूति से कम नहीं था.

ये भी पढ़ें: अब डॉक्टर गढ़वाली में करेंगे मरीजों से बात, पढ़ें पूरी खबर

spot_img

Related Articles

Latest Articles

देश के पूर्वी राज्यों में भीषण गर्मी का कहर, दक्षिण भी बेहाल; आंध्र प्रदेश...

0
नई दिल्ली: आईएमडी के मुताबिक, आंध्र प्रदेश के अनंतपुर में पारा 43.5 डिग्री सेल्सियस, कुरनूल में 43.2 डिग्री सेल्सियस, तमिलनाडु के सलेम में 42.3...

राष्ट्रपति 24 अप्रैल को एफआरआई में दीक्षांत समारोह में होंगी शामिल

0
देहरादून। इन्दिरा गाँधी राष्‍ट्रीय वन अकादमी में प्रशिक्षणरत 2022-24 प्रशिक्षण पाठ्यक्रम के दीक्षान्‍त समारोह का आयोजन 24 अप्रैल को दीक्षान्‍त-गृह, वन अनुसंधान संस्‍थान (एफआरआई)...

केंद्रीय शिक्षा सचिव ने परखी राज्य की शिक्षा व्यवस्था

0
देहरादून। केंद्रीय सचिव स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता संजय कुमार ने राज्य की शिक्षा व्यवस्था का जायजा लेने के लिए राज्य का भ्रमण किया। राज्य...

चिकित्सा के क्षेत्र में विश्वस्तरीय शिक्षा और सेवा प्रदान करना एम्स संस्थानों की बड़ी...

0
ऋषिकेश। अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान एम्स ऋषिकेश के चतुर्थ दीक्षांत ‌समारोह की मुख्य अतिथि राष्ट्रपति द्रोपदी मुर्मू ने सभी टॉपर 14 छात्र छात्राओं को...

तेज हुई राममंदिर निर्माण की गति, दिसंबर तक पूरा करने के लिए अब चार...

0
अयोध्या: राममंदिर दिसंबर 2024 तक पूर्ण हो जाए इसके लिए मंदिर प्रशासन ने 500 मजदूर अतिरिक्त बढ़ा दिए गए हैं। अब चार हजार मजदूर...