26.2 C
Dehradun
Wednesday, July 17, 2024

भारत के 48वें मुख्य न्यायाधीश बने न्यायमूर्ति एन.वी.रमण, पढ़ें पूरी खबर |Postmanindia

भारत के राष्ट्रपति द्वारा मंगलवार को सर्वोच्च न्यायालय के न्यायाधीश नथालपति वेंकट रमण को भारत का मुख्य न्यायाधीश नियुक्त किया गया. इस संबंध में एक अधिसूचना कानून एवं न्याय मंत्रालय के न्याय विभाग द्वारा जारी की गई है. नियुक्ति की अधिसूचना की एक प्रति न्यायमूर्ति एन.वी. रमण को भी सौंपी गई है. वे 24 अप्रैल 2021 को भारत के सर्वोच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश का पदभार संभालेंगे. गौरतलब हो, वह भारत के 48 वें मुख्य न्यायाधीश होंगे.

भारत के मुख्य न्यायाधीश भारत के सर्वोच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश के साथ-साथ भारतीय संघीय न्यायपालिका के सर्वोच्च रैंकिंग के अधिकारी होते हैं. भारत के मुख्य न्यायाधीश और सर्वोच्च न्यायालय के न्यायाधीश संविधान के अनुच्छेद 124 के खंड (2) के तहत राष्ट्रपति द्वारा नियुक्त किए जाते हैं. सुप्रीम कोर्ट के सभी न्यायाधीश 65 वर्ष की आयु में सेवानिवृत्त हो जाते हैं.

अनुभव और कार्यकाल के आधार पर नियुक्ति

मुख्य न्यायाधीश के सेवानिवृत्त हो जाने पर वरिष्ठतम न्यायाधीश को मुख्य न्यायाधीश नियुक्त किया जाता है. यहां वरिष्ठता उम्र के आधार पर नहीं बल्कि अनुभव और कार्यकाल के आधार पर तय की जाती है.यह प्रक्रिया कानून मंत्री द्वारा शुरू की जाती है. वह वर्तमान मुख्य न्यायाधीश, जो सेवानिवृत्ति के करीब होते हैं, से अगले मुख्य न्यायाधीश के लिए सुझावों की मांग करते हैं. फिर वह कानून मंत्रालय को अपनी सिफारिश भेजते हैं और सर्वोच्च न्यायालय के न्यायाधीश के पद से संबंधित किसी भी संशय के मामले में कॉलेजियम से परामर्श कर सकते हैं. सिफारिश प्राप्त करने के बाद कानून मंत्री इसे प्रधानमंत्री को भेजते हैं. अंत में राष्ट्रपति नए मुख्य न्यायाधीश को शपथ दिलाते हैं.

न्यायाधीश रमण के नाम की सिफारिश वरिष्ठता मानदंड के अनुरूप वर्तमान मुख्य न्यायाधीश एस ए बोबड़े ने की थी. हाल ही में आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री वाई.एस. जगन मोहन रेड्डी ने न्यायाधीश बोबड़े से अमरावती भूमि घोटाले के संबंध में न्यायमूर्ति एन. वी. रमण की लिखित शिकायत की थी. हालांकि, सुप्रीम कोर्ट ने रेड्डी द्वारा लगाए गए आरोपों की जांच के लिए एक इन-हाउस प्रक्रिया का पालन करने के बाद इन्हें खारिज कर दिया.

ये भी पढ़ें: पिता ने करवाई 14 साल के बच्ची की शादी, जागरूक शिक्षक ने खोली पोल, दर्ज हुआ मुक़दमा

spot_img

Related Articles

spot_img

Latest Articles

सीएम ने राजकीय पॉलीटेक्निक संस्थानों से चयनित 212 अभ्यर्थियों को नियुक्ति पत्र प्रदान किये

0
देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने बुधवार को मुख्यमंत्री आवास स्थित मुख्य सेवक सदन में प्राविधिक शिक्षा विभाग के अन्तर्गत राजकीय पॉलीटेक्निक संस्थानों से...

दिल्ली पुलिस आयुक्त को अमेरिका की तरह अटैक की आशंका, सीपी ने दिए डोनाल्ड...

0
नई दिल्ली: अमेरिका में राष्ट्रपति पद के उम्मींदवार डोनाल्ड ट्रंप पर हुए हमले के बाद दिल्ली पुलिस भी सतर्क हो उठी है। 15 अगस्त...

यूपी में नेतृत्व बदलाव की अटकलों के बीच केशव मौर्य-भूपेंद्र चौधरी की नड्डा से...

0
नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव में उत्तर प्रदेश में निराशाजनक प्रदर्शन के बाद खुलकर शुरू हुई बयानबाजी और 2027 को लेकर शुरू हुई भविष्यवाणी से...

सुप्रीम कोर्ट की दो टूक-गंभीर अपराधियों को सजा देना समाज को संतुष्ट करने के...

0
नई दिल्ली: सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि उन अपराधों में तो न्यायालय उठने तक कारावास की सजा दी जा सकती है, जिनमें न्यूनतम सजा...

सीएम ने बाबा बौखनाग की पूजा-अर्चना कर प्रदेश की खुशहाली की कामना की

0
देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी मंगलवार को परेड़ ग्राउण्ड में बाबा बौखनाग की डोली के अयोध्या धाम भ्रमण कार्यक्रम में शामिल हुए। उन्होंने बाबा...