32.2 C
Dehradun
Sunday, June 16, 2024

उत्तराखंड से नैनीताल सांसद अजय भट्ट को मिली मोदी मंत्रीमंडल में जगह |Postmanindia

उत्तराखंड से पहली बार सांसद और भाजपा के वरिष्ठ नेता अजय भट्ट को मोदी मंत्रीमंडल में जगह मिली है. मोदी मंत्रिमंडल में जगह मिलने के साथ ही अजय भट्ट के समर्थकों में ख़ुशी की लहर है. अजय भट्ट दो बार भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष रह चुके हैं. भट्ट राजनीति के मंझे हुए खिलाड़ी और उत्तराखंड की राजनीति का एक बड़े चेहरे के रूप में रहे हैं. उत्तराखंड के पाँच लोकसभा सांसद और दो राज्यसभा सांसदों में से अजय भट्ट एक मात्र ऐसे चेहरे हैं जो केंद्रीय मंत्रिमंडल में काम करेंगे. इससे पहले मोदी कैबिनेट में पूर्व सीएम और हरिद्वार से सांसद डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक बतौर केंद्रीय शिक्षा मंत्री काम कर रहे थे. स्वास्थ्य कारणों का हवाला देते हुए निशंक ने आज ही अपना इस्तीफा सौंपा था. जिसके बाद अजय भट्ट का नाम मंत्री मंडल में शामिल किया गया.

अजय भट्ट के सियासी सफर की बात की जाए साल 25 साल के राजनैतिक जीवन में अजय भट्ट के लिए ये दूसरा मौका है जब वो मंत्री बन पाए हैं. उत्तराखंड जब उत्तर प्रदेश का हिस्सा था तब 1996 में अजय भट्ट पहली बार रानीखेत से विधायक चुनकर उत्तर प्रदेश की विधानसभा में पहुंचे. सन 2000 में उत्तराखंड, यूपी से अलग हो गया और नए राज्य में तब जो कार्यवाहक सरकार बनी उसमें अजय भट्ट स्वास्थ्य राज्य मंत्री बनाए गए. 2002 की शुरुआत में हुए विधानसभा चुनाव में भाजपा हार गई और चुनाव जीत कर भी अजय भट्ट को विपक्ष में बैठना पड़ा.

हरीश रावत को 3 लाख वोट से हराया

अजय भट्ट साल 2019 में 17वीं लोकसभा में नैनीताल ऊधमसिंहनगर वे पहली बार सांसद गयें, इस चुनाव में उन्होंने उत्तराखण्ड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत जैसे दिग्गज को लगभग साढ़े तीन लाख वोटो से हराकर अपनी लोकप्रियता का डंका बजा दिया तथा प्रदेश में सबसे ज्यादा मतो से जीतने वाले सांसद बने. बतौर सांसद अजय भट्ट ने पहले कार्यकाल में ही दिखा दिया कि वे सदन के कार्यों में खासे सक्रिय है। उन्होंने सत्रो के दौरान सदन में उत्तराखण्ड से जुड़े मुद्दों को गम्भीरता से उठाकर अपनी उत्कृष्ट कार्यशैली का सिक्का जमा लिया। वे संसद की बहसों और विशेष उल्लेखित चर्चाओं में सक्रिय भागीदारी निभाते है. उन्होंने राज्य की मूलभूत जरुरत जैसे स्वास्थ्य, सड़क परिवहन और रेलवे आदि से सम्बन्धित कई प्रश्नों को सदन के पटल पर रखा। सदन में उनकी उपस्थिति भी शानदार रही है, जिस कारण उनको ससंद में रक्षा समिति अधीनस्थ विधान संबंधी समिति, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, परामर्शदात्री समिति एवं प्राकलन समिति का सदस्य बनाया गया है, जिसका वे काफी कुशलता पूर्वक निर्वहन कर रहे है.

कई देशों की कर चुके विदेश यात्रा

उन्होंने अपने उत्तर प्रदेश के विधायकी कार्यकाल में कनाड़ा, आस्ट्रेलिया, इंग्लैण्ड थाईलैण्ड एवं उत्तराखण्ड के विधायकी कार्यकाल में संयुक्त राज्य अमेरिका की विदेश यात्रा भी की है. विशेषता विषय की समझ और गम्भीरता से सदन पटल पर रखने की कला संसद में उत्तराखण्ड की सड़क, स्वास्थ्य, पेयजल, शिक्षा ओर पलायन से जुड़े जरुरी मुद्दों को मजबूती से उठाते है. संसदीय क्षेत्र में विकास के लिए सक्रिय.

यह भी पढ़ें: कोरोना से मिली प्रदेश को राहत, आज महज 77 नए मामले

spot_img

Related Articles

Latest Articles

पहाड़ों पर भी कहर बरपा रही गर्मी, दिल्ली-पंजाब समेत कई राज्यों में जारी लू...

0
नई दिल्ली। देश के अधिकांश हिस्सों में भीषण गर्मी और लू का प्रकोप जारी है। उत्तर प्रदेश, दिल्ली, हरियाणा और पंजाब के मैदानी इलाके...

मणिपुर में हिंसा के बीच सचिवालय बिल्डिंग के पास लगी भीषण आग

0
इंफाल। मणिपुर में पिछले साल से चल रही हिंसा के बीच शनिवार को राज्य के मुख्यमंत्री एन बीरेन सिंह के सरकारी बंगले के पास...

एडीजीपी ने 7 जुलाई से लागू होने जा रहे तीन नये कानूनों के क्रियान्वयन...

0
देहरादून। अपर पुलिस महानिदेशक अपराध एवं कानून व्यवस्था ए.पी. अंशुमान द्वारा समस्त जनपद एवं परिक्षेत्र प्रभारियों के साथ वीडियो कांफ्रेसिंग के माध्यम से बैठक...

बस हादसा: सीएम की अफसरों को दो टूक, दायित्व निर्वहन में शिथिलता पर होगी...

0
देहरादून: जनपद रुद्रप्रयाग में शनिवार को हुई बस दुर्घटना व हाल के दिनों में चारधाम यात्रा मार्ग पर हुई अन्य बस दुर्घटनाओं को लेकर...

11.69 लाख से अधिक मरीजों ने उठाया आयुष्मान की निशुल्क उपचार सुविधा का लाभ

0
देहरादून। प्रदेश में आयुष्मान योजना अपनी रफ्तार पर है। आयुष्मान कार्ड बनाने के लिए शिविरों का आयोजन व जागरूकता अभियान के चलते प्रदेश में...