25.2 C
Dehradun
Monday, April 22, 2024

श्रमिकों को सुरक्षित निकालने को सरकार ने झोंकी ताकत

उत्तरकाशी: मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के सिलक्यारा सुरंग में जाकर मौके का जायजा लेने का बड़ा असर हुआ है। सुरंग में फंसे सभी 40 मजदूरों को सुरक्षित बाहर निकालने के लिए शासन-प्रशासन ने पूरी ताकत झोंक दी है। मुख्यमंत्री ने स्थलीय निरीक्षण के दौरान जिस प्रकार से रेस्क्यू टीमों की हौसलाअफजाई की है, उसका अभियान पर जबरदस्त प्रभाव पड़ा है। जवान हर विपरीत परिस्थितियों में भी बचाव अभियान को जारी रखते हुए टनल में फंसे श्रमिकों की सुरक्षा के लिए तत्पर हैं। एनडीआरएफ, एसडीआरएफ, उत्तराखंड पुलिस के साथ ही विशेषज्ञों की टीम भी मौके पर डटी है।

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी टनल में फंसे मजदूरों को सकुशल बाहर निकालने के लिए कोई भी कोर कसर बाकी नहीं रखना चाहते हैं। इसके लिए सरकार हरसंभव उठा रही है। जहां टनल के अंदर श्रमिकों के जीवन के लिए सभी जरूरी प्रबन्ध किए गए हैं, वहीं उनको बाहर निकालने के बाद स्वास्थ्य रक्षा के लिए अस्पतालों में आवश्यक इंतजाम कर दिए गए हैं।

ऑक्सीजन सप्लाई कम्प्रेशर की मदद से पानी की पाइप लाइन के माध्यम से टनल में ऑक्सीजन पहुंचाई जा रही है। ऑक्सीजन की किसी भी दशा में कमी न हो, इसके लिए अतिरिक्त ऑक्सीजन सिलेंडरों का भंडारण कर दिया गया है। खाद्य सामग्री एयर पाइप लाइन के माध्यम से पहुंचाई जा रही है। सुरंग के अंदर पाइप लाइन राहत और बचाव अभियान में मददगार साबित हो रही है। इसी पाइपलाइन के जरिए वॉकी-टॉकी के माध्यम से टनल में फंसे हुए मजदूरों से संपर्क स्थापित हो सका है।

दूसरी ओर मजदूरों को बाहर निकाले जाने पर भू-धंसाव प्रभावित क्षेत्र में वेंटीलेशन सुनिश्चित किया गया है। स्वास्थ्य विभाग की टीमों को विशेषज्ञ, जरूरी औषधि उपकरण, एम्बुलेंस सहित सुरंग के द्वार पर तैनात किया गया है। निकटवर्ती जिलों के अस्पतालों और एम्स ऋषिकेश को हाई अलर्ट पर रखा गया है। राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण बचाव एवं राहत कार्य अभियान पर नजर रखे हुए है।

सरकार सभी संभव विकल्पों पर काम कर रही है। विशेषज्ञों की सलाह पर मजदूरों को सुरक्षित बाहर निकालने के लिए दूसरा रास्ता भी बनाया जा रहा है, इसके लिए बड़े व्यास के ह्यूम पाइप हरिद्वार और देहरादून से भेजे जाने की व्यवस्था कर दी गई है।

बता दें कि बीते दिवस उत्तरकाशी जिले में यमुनोत्री नेशनल हाईवे पर सिलक्यारा के पास निर्माणाधीन टनल में भू-धंसाव होने से वहां काम कर रहे 40 मजदूर सुरंग में ही फंस गए थे। हादसे की सूचना मिलते ही मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के निर्देश पर पूरा शासन-प्रशासन राहत और बचाव कार्यों में जुट गया। सीएम धामी लगातार मौके पर चल रहे रेस्क्यू की निगरानी करते रहे। बचाव अभियान में और तेजी लाने के लिए आज स्थलीय निरीक्षण कर स्थिति का जायजा लिया।

spot_img

Related Articles

Latest Articles

आंध्रप्रदेश की 9 और झारखंड की 2 सीटों पर कांग्रेस ने उतारे उम्मीदवार

0
नई दिल्ली: कांग्रेस ने आंध्र प्रदेश और झारखंड के लिए लोकसभा उम्मीदवारों की सूची जारी की। पार्टी ने आंध्र प्रदेश की नौ और झारखंड...

देश के अधिकतर हिस्सों में लू का कहर

0
नई दिल्ली: मौसम विभाग ने बताया कि बिहार, मध्य प्रदेश, तमिलनाडु, पुडुचेरी और उत्तर प्रदेश के कई जगहों पर 40-42 डिग्री सेल्सियस रहा। उप...

यात्रा पथ से बर्फ हटाने को सेना की टुकड़ी व सेवादारों को घांघरिया के...

0
देहरादून। यात्रा श्री हेमकुण्ट साहिब इस वर्ष 25 मई से प्रारंभ हो रही है। यात्रा की तैयारियों में मुख्य कार्य यात्रा पथ से बर्फ...

अहमदाबाद ऋषिकेश योगा एक्सप्रेस ट्रेन में लगी आग, यात्रियों में मची अफरा तफरी

0
रुड़की। हरिद्वार के रुड़की स्थित इकबालपुर गांव में अहमदाबाद से ऋषिकेश जा रही अहमदाबाद ऋषिकेश योगा एक्सप्रेस ट्रेन के एक कोच में अचानक आग...

लंदन मेयर पद की दौड़ में शामिल हुए दिल्ली में जन्मे तरुण गुलाटी

0
नई दिल्ली। लंदन में मेयर पद पर पाकिस्तान मूल के सादिक खान तीसरी बार जीत हासिल करने के लक्ष्य के साथ चुनाव लड़ रहे हैं।...