22 C
Dehradun
Saturday, April 13, 2024

ऊर्जा कर्मियों की सचिव से वार्ता विफल, कुछ देर बाद मुख्यसचिव से होगी बैठक । Postmanindia

उत्तराखंड में आज रात से हड़ताल का ऐलान कर चुके ऊर्जा निगम के सभी शासन स्तर पर सचिव के साथ हुई कर्मचारी संगठनों की वार्ता विफल हो गई है. वहीं अब मुख्य सचिव के साथ होने वाली दूसरे दौर की वार्ता हड़ताल का भविष्य तय करेंगी. हालांकि कर्मचारी नेताओं ने साफ कर दिया है की बिना मांग पूरी हुए हड़ताल वापस नहीं ली जाएगी.

गौरतलब है कि ऊर्जा निगम के कार्मिक पिछले 4 सालों से एसीपी की पुरानी व्यवस्था तथा उपनल के माध्यम से कार्य कार्योजित संविदा कार्मिकों के नियमितीकरण एवं समान कार्य हेतु समान वेतन को लेकर लगातार शासन प्रशासन से वार्ता कर रहे हैं. वर्ष 2017 में ऊर्जा निगम के कार्मिक आंदोलनरत थे तब 22 दिसंबर 2017 को कार्मिकों के संगठनों तथा सरकार के बीच द्विपक्षीय समझौता हुआ परंतु आज तक उस समझौते पर कोई कार्यवाही नहीं हुई ऊर्जा निगम के कार्मिक इस बात से क्षुब्ध हैं कि सातवें वेतन आयोग में उनकी पुरानी चली आ रही 9-5-5 की की एसीपी व्यवस्था को समाप्त कर दिया गया है, जो कि उन्हें उत्तर प्रदेश के समय से ही मिल रही थी यही नहीं पे मैट्रिक्स में भी काफी छेड़खानी की गई .

spot_img

Related Articles

Latest Articles

मतदान के प्रति जन सहभागिता बढ़ाने के उद्देश्य से आयोजित क्विज कंपटीशन में रॉबिन...

0
देहरादून। मुख्य निर्वाचन अधिकारी कार्यालय द्वारा आयोजित फेसबुक क्विज कंपटीशन के विजेताओं के नाम की घोषणा कर दी गई है। गुरुवार को मुख्य निर्वाचन...

मोहब्बत की दुकान का दावा करने वालों को सनातन संस्कृति और मातृ शक्ति से...

0
देहरादून। भाजपा ने पीएम मोदी की रैली को ऐतिहासिक और अभूतपूर्व बनाने के लिए देवतुल्य जनता का आभार व्यक्त किया है । प्रदेश चुनाव...

बीएलओ को उपलब्ध कराये गये हैं 83 लाख 35 हजार वोटर स्लिपः एसीईओ  

0
देहरादून। अपर मुख्य निर्वाचन अधिकारी विजय कुमार जोगदंडे ने सचिवालय स्थित मीडिया सेंटर में प्रेस ब्रीफिंग करते हुए कहा कि निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार...

भ्रष्टाचार के कारण हुई कांग्रेस की दुर्दशाः राजनाथ सिंह

0
गौचर। अपने चुनावी दौरे पर आए रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने शुक्रवार को जनपद चमोली के गौचर में एक जनसभा को संबोधित करते हुए...

अंकिता भंडारी हत्याकांड पर भाजपा की खामोशी खड़े कर रही कई सवालः गोदियाल

0
देहरादून। अंकिता भंडारी हत्याकांड पर भारतीय जनता पार्टी की खामोशी चुनाव में भारी पड़ती दिख रही है। इससे भाजपा को चुनाव में नुकसान उठाने...