33.2 C
Dehradun
Thursday, June 13, 2024

किसान के बेटे ने बढ़ाया केदारघाटी का मान, सेना में सिपाही से बना अफसर |Postmanindia

ज़िंदगी में कुछ कर गुजरने का हौसला हो तो कोई भी राह मुश्किल नहीं है. इंडियन मिलिट्री एकेडमी में पासिंग आउट परेड में अंतिम पग पार करने के बाद 341 युवा अफसरों की टोली भारतीय सेना का अभिन्न हिस्सा बन गई. उत्तराखंड से भी आज 37 जांबाज इसमें शामिल हैं, इसी बीच जनपद रुद्रप्रयाग के केदारघाटी के एक छोटे से ग्राम रेल(फाटा) के एक साधारण किसान धीर सिंह तिन्दोरी जी एवं सावित्री देवी जी के सुपुत्र सचिन तिन्दोरी आज भारतीय सैन्य अकादमी(IMA) देहरादून से बतौर लेफ्टिनेंट भारतीय सेना में शामिल हो गए हैं.

एक सामान्य से पृष्ठभूमि के साथ विकट और दुर्गम परिस्थितियों के बावजूद सचिन तिन्दोरी ने आज भारतीय सेना के लेफ्टिनेंट जैसे प्रतिष्ठित पद को हासिल किया है. साल 2013 में सचिन ने बतौर सिपाही गढ़वाल रायफल ज़्वाइन किया था. साल 2018 में SSB पास यह कमीशन हो गए. जिसके बाद तीन साल IMA में ट्रेनिंग की. सचिन के भाई बताते हैं कि सचिन का बचपन से ही भारतीय सेना अफ़सर बनने का सपना था.

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड में आज कोरोना के 463 मामले, रिकवरी रेट पहुँचा 94 फीसदी

spot_img

Related Articles

Latest Articles

वनाग्नि की चपेट में आने से वन विभाग के चार कर्मचारियों की मौत, चार...

0
अल्मोड़ा: अल्मोड़ा में वनाग्नि की चपेट में आने से चार लोगों की मौत हो गई है। जबकि चार गंभीर रूप से झुलस गए। गंभीर...

मुख्य सचिव ने 16वें वित्त आयोग से उत्तराखण्ड के विशेष सन्दर्भ में किए कई...

0
देहरादून। उत्तराखण्ड के विशेष सन्दर्भ में जल स्रोतों व धाराओं के पुनर्जीवीकरण की रिपोर्ट को सम्मिलित करने पर विचार करने हेतु ई वाई द्वारा...

लोकसभा स्पीकर का चुनाव 26 जून को, राष्ट्रपति ने अधिसूचना जारी की

0
नई दिल्ली: लोकसभा स्पीकर का चुनाव 26 जून को होना है। राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने इसे लेकर अधिसूचना भी जारी कर दी है। लोकसभा...

सीएम ने चम्पावत को आदर्श जिला बनाने के लिए लिए तैयार की जा रही...

0
देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने गुरुवार को सचिवालय में जनपद चम्पावत को आदर्श जनपद बनाने के लिए लिए बनाई जा रही कार्ययोजना और...

कुवैत अग्निकांड: मृतकों के परिजनों को दो-दो लाख रुपये देगी मोदी सरकार

0
नई दिल्ली। कुवैत में विनाशकारी आग में अपनी जान गंवाने वाले भारतीयों के परिवारों के लिए भारत सरकार की तरफ से 2-2 लाख रुपये...