33.2 C
Dehradun
Thursday, June 13, 2024

शिक्षा मंत्री ने ली कोविड सम्बंधी महत्वपूर्ण बैठक, दिए महत्वपूर्ण निर्देश |Postmanindia

प्रदेश के  शिक्षा मंत्री व चम्पावत जिले के प्रभारी मंत्री कोविड़ अरविंद पाण्डेय ने जनपद में किये गए कोविड़ कार्यो की समीक्षा की. चम्पावत कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित बैठक में उन्होंने अधिकारियों से कोविड़ कार्यो में और अधिक तत्परता से कार्य करने व दायित्वों का निर्वहन करने के निर्देश दिए. उन्होंने कहा की कोरोना के इस संकट से बचने के लिए लोगो पर जागरूकता पैदा करनी होगी और लोगो को कोविड के नियमों का सख्ताई से पालन करवाना होगा. जिले में कोविड़ कार्यो की समीक्षा के बाद उन्होंने कहा कि  जिले में  कोरोना संक्रमण की गति बढ़ने से इसके सुरक्षात्मक उपाय ओर तेज करने की आवश्यकता है. उन्होंने कहा कि इस नाजुक समय पर सभी एक दूसरे पर आरोप -प्रत्यारोप से बचे और सभी आपसी समन्वय बनाकर अपनी जिम्मेदारियों को निभाये तभी हम इस संकट से पार पा सकते है.

उन्होंने सभी अधिकारियों को सतर्कता के साथ कार्य करने को कहा. उन्होंने निर्देश दिए कि कोविड केयर सेंटर , हॉस्पिटलों में साफ-सफाई की व्यवस्था दुरस्त रखे और यदि छोटे कर्मचारी पर्यावरण मित्रे, नर्स आदि की कमी हो तो जिलाधिकारी उचित मानदेय पर कर्मचारियों को लगाए. क्यूकिं यह समय लोगो की जान बचाने का है. उन्होंने ऐसे दूरस्थ क्षेत्रों में जहाँ सैंपलिंग नही हुई है वहा टीम भेजकर सेम्पलिंग करवाये. समीक्षा बैठक के दौरान जिलाधिकारी विनीत तोमर ने बताया कि जिले में वर्तमान में एक्टिव केस 1345 और जनपद में 18 कन्टेन्टमेंट जोन बनाये गए है. उन्होंने बताया कि बॉर्डर पर आने वाले सभी की सैंपलिंग 24 घंटे शत प्रतिशत की जा रही है. उन्होंने बताया कि वर्तमान में लगभग 1000 सेम्पलिंग प्रतिदिन की जा रही है जिसको और बढ़ाने का प्रयास किया जा रहा है. जिलाधिकारी ने बताया कि कोरोना के नियमों का पालन नही करने वालो का सख्ताई के साथ चालान किये जा रहे है. 4315 लोगो के मास्क ना पहनने पर, सामाजिक दूरी पर 944 लोगों के चालान काटे गए तथा 17380 फ्री मास्क बाटे गए. उन्होंने बताया कि हमारे द्वारा अब लोगो के सेम्पल लेते ही उन्हें दवा किट देने का प्रयास किया जा रहा है. बैठक के बाद  प्रभारी मंत्री ने कोविड़ कंट्रोल रूम का निरीक्षण कर अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिए. गौरतलब है कि प्रदेश में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए प्रदेश के कैबिनेट मंत्रियो को  जिलेवार प्रवंधन व अनुश्रवण की जिम्मेदारी दी गयी है.

यह भी पढ़ें: अगले 24 घंटे में उत्तराखंड पहुँचेगी 3 लाख से ज़्यादा वैक्सीन

spot_img

Related Articles

Latest Articles

वनाग्नि की चपेट में आने से वन विभाग के चार कर्मचारियों की मौत, चार...

0
अल्मोड़ा: अल्मोड़ा में वनाग्नि की चपेट में आने से चार लोगों की मौत हो गई है। जबकि चार गंभीर रूप से झुलस गए। गंभीर...

मुख्य सचिव ने 16वें वित्त आयोग से उत्तराखण्ड के विशेष सन्दर्भ में किए कई...

0
देहरादून। उत्तराखण्ड के विशेष सन्दर्भ में जल स्रोतों व धाराओं के पुनर्जीवीकरण की रिपोर्ट को सम्मिलित करने पर विचार करने हेतु ई वाई द्वारा...

लोकसभा स्पीकर का चुनाव 26 जून को, राष्ट्रपति ने अधिसूचना जारी की

0
नई दिल्ली: लोकसभा स्पीकर का चुनाव 26 जून को होना है। राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने इसे लेकर अधिसूचना भी जारी कर दी है। लोकसभा...

सीएम ने चम्पावत को आदर्श जिला बनाने के लिए लिए तैयार की जा रही...

0
देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने गुरुवार को सचिवालय में जनपद चम्पावत को आदर्श जनपद बनाने के लिए लिए बनाई जा रही कार्ययोजना और...

कुवैत अग्निकांड: मृतकों के परिजनों को दो-दो लाख रुपये देगी मोदी सरकार

0
नई दिल्ली। कुवैत में विनाशकारी आग में अपनी जान गंवाने वाले भारतीयों के परिवारों के लिए भारत सरकार की तरफ से 2-2 लाख रुपये...