33.2 C
Dehradun
Thursday, June 13, 2024

छठे चरण में मोदी सरकार के इन मंत्रियों समेत 889 उम्मीदवारों की किस्मत ईवीएम में कैद

नई दिल्ली।  लोकसभा चुनाव 2024 के छठे चरण की मतदान प्रक्रिया 25 मई को पूरी हो गई है। छठे चरण में आठ राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों की 58 सीटों पर मतदान हुआ। इन सीटों पर कुल 889 उम्मीदवारों ने अपना भाग्य आजमाया। जिन सीटों पर मतदान हुआ, उनमें धमेंद्र प्रधान, राव इंद्रजीत सिंह जैसे केंद्रीय मंत्रियों की भी सीटें शामिल हैं।
धर्मेंद्र प्रधान: ओडिशा की संबलपुर लोकसभा सीट में भी हाई-प्रोफाइल मुकाबले की उम्मीद है। यहां सत्तारूढ़ बीजू जनता दल ने पार्टी महासचिव (संगठन) प्रणब प्रकाश दास को केंद्रीय शिक्षा मंत्री के खिलाफ मैदान में उतारा है। तीन बार के विधायक प्रणब दास नवीन पटनायक के बाद पार्टी में नंबर दो माने जाते हैं। उनका मुकाबला धर्मेंद्र प्रधान से है जो 15 साल के अंतराल के बाद संबलपुर लोकसभा सीट से चुनावी मैदान में लौट आए हैं। इससे पहले धर्मेंद्र मध्य प्रदेश से राज्यसभा सांसद थे। वहीं कांग्रेस ने नागेंद्र कुमार प्रधान को चेहरा बनाया है। 2019 में संबलपुर सीट पर भाजपा के नितेश गंगा देब को जीत मिली थी। गत चुनाव में यहां 76.72% लोगों ने मतदान किया था।
राव इंद्रजीत बनाम राज बब्बर: छठे चरण में कई केंद्रीय मंत्री भी चुनाव लड़ रहे हैं। हरियाणा की गुड़गांव लोकसभा सीट से केंद्रीय मंत्री राव इंद्रजीत सिंह भाजपा के प्रत्याशी हैं। वह मौजूदा केंद्र सरकार में कॉर्पोरेट मामलों के राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) हैं। इंद्रजीत के सामने कांग्रेस ने अभिनेता और पूर्व सांसद राज बब्बर को उतारा है। राज बब्बर उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रदेश अध्यक्ष भी रह चुके हैं। इसके अलावा जजपा ने राहुल यादव फाजिलपुरीया और इनेलो ने सौराब खान को उम्मीदवार बनाया है। 2019 में गुड़गांव सीट पर भाजपा के राव इंद्रजीत को जीत मिली थी। गत चुनाव में यहां 67.33% लोगों ने मतदान किया था।
कृष्णपाल गुर्जर: हरियाणा की फरीदाबाद सीट से केंद्रीय मंत्री कृष्णपाल गुर्जर चुनाव लड़ रहे हैं। गुर्जर मोदी सरकार में ऊर्जा राज्य मंत्री का पद संभाल रहे हैं। इस बार भी भाजपा ने उन पर फिर भरोसा जताया है। वहीं, कांग्रेस के प्रत्याशी के रूप में महेंद्र प्रताप मैदान में हैं। जननायक जनता पार्टी ने नलिन हुड्डा और इंडियन नेशनल लोकदल ने सुनील तेवतिया को अपना उम्मीदवार बनाया है। 2019 में फरीदाबाद से भारतीय जनता पार्टी के कृष्णपाल गुर्जर ने जीत दर्ज की थी। बीते चुनाव में यहां 64.1% मतदान दर्ज किया गया था।
सुभाष सरकार: पश्चिम बंगाल की बांकुरा सीट का मुकाबला भी चर्चा में है। यहां भाजपा ने डॉक्टर और केंद्रीय शिक्षा राज्य मंत्री सुभाष सरकार को फिर से उम्मीदवार बनाया है। दूसरी ओर टीएमसी ने अपने बांकुरा जिला अध्यक्ष और वकील अरूप चक्रवर्ती को मैदान में उतारा है। माकपा ने वकील नीलांजन दासगुप्ता को टिकट दिया है। गत चुनाव में बांकुरा सीट पर भाजपा के सुभाष सरकार जीतकर संसद पहुंचे थे। 2019 में यहां 83.25% लोगों ने मतदान किया था।

spot_img

Related Articles

Latest Articles

मुख्य सचिव ने 16वें वित्त आयोग से उत्तराखण्ड के विशेष सन्दर्भ में किए कई...

0
देहरादून। उत्तराखण्ड के विशेष सन्दर्भ में जल स्रोतों व धाराओं के पुनर्जीवीकरण की रिपोर्ट को सम्मिलित करने पर विचार करने हेतु ई वाई द्वारा...

लोकसभा स्पीकर का चुनाव 26 जून को, राष्ट्रपति ने अधिसूचना जारी की

0
नई दिल्ली: लोकसभा स्पीकर का चुनाव 26 जून को होना है। राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने इसे लेकर अधिसूचना भी जारी कर दी है। लोकसभा...

सीएम ने चम्पावत को आदर्श जिला बनाने के लिए लिए तैयार की जा रही...

0
देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने गुरुवार को सचिवालय में जनपद चम्पावत को आदर्श जनपद बनाने के लिए लिए बनाई जा रही कार्ययोजना और...

कुवैत अग्निकांड: मृतकों के परिजनों को दो-दो लाख रुपये देगी मोदी सरकार

0
नई दिल्ली। कुवैत में विनाशकारी आग में अपनी जान गंवाने वाले भारतीयों के परिवारों के लिए भारत सरकार की तरफ से 2-2 लाख रुपये...

चंद्रबाबू नायडू ने आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली, शपथ ग्रहण...

0
हैदराबाद। तेलुगू देशम पार्टी (टीडीपी) के अध्यक्ष चंद्रबाबू नायडू ने आज बुधवार को आंध्र प्रदेश के नए मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली है।...